अवलोकनीय ब्रह्मांड का लघुगणक प्रतिनिधित्व। उल्लेखनीय खगोलीय पिंडों की व्याख्या की जाती है। पृथ्वी से दूरी केंद्र से किनारे तक तेजी से बढ़ती है। उनके आकार की सराहना करने के लिए आकाशीय निकायों को बड़ा किया गया था।

ब्रह्माण्ड सम्पूर्ण समय और अंतरिक्ष और उसकी अंतर्वस्तु को कहते हैं।[1][2][3][4] ब्रह्माण्ड में सभी ग्रह, तारे, गैलेक्सियाँ, खगोलीय पिण्ड, गैलेक्सियों के बीच के अंतरिक्ष की अंतर्वस्तु, अपरमाणविक कण, और सारा पदार्थ और सारी ऊर्जा शामिल है।[5] अवलोकन योग्य ब्रह्माण्ड का व्यास वर्तमान में लगभग 28 अरब पारसैक (91.1 अरब प्रकाश-वर्ष) है।[6] पूरे ब्रह्माण्ड का व्यास अज्ञात है, और हो सकता है कि यह अनन्त हो।

इन्हें भी देखें

  • अंतरिक्ष
  • क्रम-विकास
  • क्षुद्रग्रह
  • आकाशगंगा
    1. Universe. Webster's New World College Dictionary, Wiley Publishing, Inc. 2010.
    2. "Universe". Dictionary.com. अभिगमन तिथि 2012-09-21.
    3. "Universe". Merriam-Webster Dictionary. अभिगमन तिथि 2012-09-21.
    4. Zeilik, Michael; Gregory, Stephen A. (1998). Introductory Astronomy & Astrophysics (4th संस्करण). Saunders College Publishing. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0030062284. The totality of all space and time; all that is, has been, and will be.
    5. "आख़िर कितने ब्रह्मांड हैं?".
    6. Itzhak Bars; John Terning (2009). Extra Dimensions in Space and Time. Springer. पपृ॰ 27ff. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-387-77637-8. अभिगमन तिथि 2011-05-01.

    बाहरी कड़ियाँ

    1. "ज्ञान की बातें". deepravirai.blogspot.com. अभिगमन तिथि 2020-01-19.