भारत
Flag of India.svg
संघभारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड
व्यक्तिगत
कप्तानविराट कोहली
कोचरवि शास्त्री
इतिहास
टेस्ट दर्जा हासिल किया1932
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद
आईसीसी सदस्यतापूर्ण सदस्य (1926)
आईसीसी क्षेत्रएशिया
आईसीसी रैंकिंग वर्तमान [1] श्रेष्ठ
टेस्ट तीसरा 1st
वनडे दूसरा 1st
टी20आई तीसरा 1st
टेस्ट
पहला टेस्टबनाम  इंग्लैण्ड लॉर्ड्स, लंदन; 25–28 जून 1932
अंतिम टेस्टबनाम  दक्षिण अफ़्रीका वांडरर्स स्टेडियम, जोहान्सबर्ग; 24–27 जनवरी 2018
टेस्ट खेले जीत/हार
कुल [2] 521 144/160
(216 ड्रॉ, 1 टाई)
इस साल [3] 3 1/2
(0 ड्रॉ)
वनडे
पहला वनडेबनाम  इंग्लैण्ड हेडिंग्ले, लीड्स; 13 जुलाई 1974
अंतिम वनडेबनाम  दक्षिण अफ़्रीका सुपरस्पोर्ट पार्क, सेंचुरियन; 16 फरवरी 2018
वनडे खेले जीत/हार
कुल [4] 939 483/409
(7 टाई, 40 कोई परिणाम नही)
इस साल [5] 6 5/1
(0 टाई, 0 कोई परिणाम नही)
विश्व कप भागीदारी11 (पहला 1975)
श्रेष्ठ परिणामविजेता (1983, 2011)
टी20आई
पहला टी20आईबनाम  दक्षिण अफ़्रीका वांडरर्स स्टेडियम, जोहान्सबर्ग; 1 दिसंबर 2006
अंतिम टी20आईबनाम  दक्षिण अफ़्रीका न्यूलैंड्स क्रिकेट ग्राउंड, केप टाउन; 24 फरवरी 2018
टी20आई खेले जीत/हार
कुल [6] 94 57/34
(1 टाई, 2 कोई परिणाम नही)
इस साल [7] 3 2/1
(0 टाई, 0 कोई परिणाम नही)
टी20आई विश्व कप भागीदारी6 (पहला 2007)
श्रेष्ठ परिणामविजेता (2007)

टेस्ट किट

वनडे किट

टी20आई किट

आखिरी अद्यतन 24 फरवरी 2018

भारतीय क्रिकेट टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करती है। भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा संचालित भारतीय क्रिकेट टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की पूर्णकालिक सदस्य है। भारतीय टीम दो बार क्रिकेट विश्वकप (१९८३ और २०११) अपने नाम कर चुकी है। वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री हैं।

इतिहास

यद्यपि भारत में क्रिकेट 18 वीं सदी में यूरोपीय व्यापारी नाविकों द्वारा लाया गया था, और भारत में पहला क्रिकेट क्लब 1792 में कलकत्ता में स्थापित किया गया था परन्तु राष्ट्रीय क्रिकेट टीम ने अपना पहला मैच लॉर्ड्स में 25 जून 1932 को खेला।[8] अपने पहले टेस्ट मैच खेलने के साथ ही विश्व में टेस्ट टीम की हैसियत पाने वाली छठवी टीम बन गयी। अपने पहले ५० वर्षों में टीम ने बहुत ही कमजोर प्रदर्शन किया, 196 टेस्ट मैचों में से केवल 35 मैच में ही जीत दर्ज करा पाई। 1970 के दशक से भारतीय क्रिकेट टीम एक शक्तिशाली टीम बनकर उभरी। 1983 में कपिल देव के नेतृत्व में वेस्टइंडीज को हराकर विश्वकप अपने नाम किया।[9] सौरव गांगुली की कप्तानी में 2003 में उपविजेता रही एवं 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने दूसरी बार विश्वकप जीता।

कोचिंग स्टाफ़