2257m (7407 फीट) पर स्थित घुम रेलवे स्टेशन, दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे का उच्चतम बिंदु

घुम रेलवे स्टेशन पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में स्थित दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे का एक स्टेशन है। यह भारत का सबसे ऊँचा रेलवे स्टेशन है जो 2,258 मीटर (7,407 फीट) की ऊँचाई पर स्थित है। घुम में ही घुम मठ और दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे का प्रसिद्ध मोड़ बटासिया लूप स्थित हैं।[1][2]

विवरण

मानचित्र पर घुम और अन्य स्टेशन
घुम स्टेशन पर खड़ी हिमालयन बर्ड ट्रेन
रेल संग्रहालय, घुम

दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे का निर्माण 1879 में शुरू हुआ और रेलवे ट्रैक 4 अप्रैल 1881 को घमौर तक पहुँचा। 1878 तक कोलकाता से दार्जिलिंग की यात्रा में 5-6 दिन लगते थे। इस यात्रा में भाप इंजन से चलने वाली गाड़ियों का उपयोग करके, भाप इंजन के बाद नौका, नौका के द्वारा गंगा को पार कर साहेबगंज आना और फिर बैलगाड़ी या पालकी का उपयोग करना पड़ता था। 1878 में सिलीगुड़ी को भारत के रेलवे मानचित्र पर आया, जिसने दो दिनों की लंबी यात्रा को समाप्त कर दिया। 2007 में कोलकाता से न्यू जलपाईगुड़ी (6 किमी की दूरी पर एक नया रेलवे स्टेशन, सिलीगुड़ी से 3.7 मील) की ट्रेन यात्रा में लगभग 10 घंटे लगते थे। अब जो लोग पहाड़ी पर चढ़ने वाली धीमी ट्रेन द्वारा न्यू जलपाईगुड़ी से दार्जिलिंग तक की यात्रा करने के लिए उत्सुक नहीं हैं, वे दार्जिलिंग से घूम और वापस जाने के लिए पर्यटक ट्रेन में सवारी का आनंद ले सकते हैं।[2][3][4]

सिलीगुड़ी से घुम की चढ़ाई के बाद, ट्रेन दार्जिलिंग से लगभग 1,000 फीट (300 मीटर) की दूरी पर उतरना शुरू करती है। कुछ पर्यटन साहित्यकारों द्वारा दावा किया जाता है कि घुम दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे स्टेशन है किन्तु यह कभी नहीं था। पेरू में चिक्ला स्टेशन जो 3,724 मीटर (12,218 फीट) उँचा है, 1878 में खोला गया। चीन में तिब्बत और तिब्बत में तांगगुला रेलवे स्टेशन 2006 में खोला गया, जो कि 5,068 मीटर (16,627 फीट) उंचाई पर है। स्विटज़रलैंड में जंगफ्राबाहन रेलवे में एक 1,000 मिमी (3 फीट 3 3 in इंच) की रेल है, जो कि क्लीने स्किडग से 9 किलोमीटर (5.6 मील) तक यूरोप के सबसे ऊंचे रेलवे स्टेशन जुंगफुजोच (ऊंचाई 3,471 मीटर, 11,388 फीट) पर चलती है।[2][5][6][7]

संदर्भ

  1. PUNE, SCHOLAR. "Ghoom Station - 15 Train Departures NFR/Northeast Frontier Zone - Railway Enquiry". indiarailinfo.com. मूल से 18 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 अप्रैल 2020.
  2. Agarwala, A.P. (editor), Guide to Darjeeling Area, 27th edition, p. 53-55, ISBN 81-87592-00-1.
  3. "Mountain Railways of India". UNESCO World Heritage Centre. मूल से 3 मई 2006 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 April 2006.
  4. "DHR History". darjeelingnews.net. Darjeelingnews. मूल से 13 December 2003 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 February 2007.
  5. "The Jungfrau Railway - A Pioneering Work". Interlaken, Switzerland: Jungfraubahnen Management AG. मूल से 7 अप्रैल 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2017-05-17.
  6. After the Gornergrat railway (3,090 m)
  7. The Official website of Yunnan province Archived 1 अप्रैल 2020 at the वेबैक मशीन. Report of inauguration. Retrieved 1 July 2006.